बर्फ की चादर में बदला श्रीनगर, बारिश की संभावना, सुबह 8 बजे तक नहीं शुरू हुआ बर्फ हटाने का काम

923

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर कल देर रात से हुई ताजा बर्फबारी के कारण सफेद चादर में तब्दील हो गई है, जिसके कारण कड़ाके की ठंड बढ़ गई है तथा सामान्य जनजीवन गुरुवार को भी प्रभावित रहा। श्रीनगर तथा आसपास के इलाकों में सुबह जब लोग उठे तो उन्होंने छतों, पेड़ों, बिजली की लाइनों के अलावा खुले मैदानों और सड़कों को सफेद चादर में लिपटा पाया। पर्यटक भी बर्फबारी का आनंद लेते देखे गए। लोगों ने आरोप लगाया कि सुबह आठ बजे तक शहर में कोई भी बर्फ सफाई अभियान शुरू नहीं किया गया था। नातीपोरा निवासी अब्दुल राशिद कहते हैं, मुख्य सड़कों से बर्फ को साफ नहीं किया गया है, ऐसे में आंतरिक सड़क की स्थिति की कल्पना की जा सकती है। इसी तरह की रिपोर्ट राजबाग, दालगेट, रेडियो कश्मीर और बटमालू इलाकों से भी प्राप्त हुई हैं। सड़कें बहुत फिसलनभरी हो गई हैं और लोगों को गाड़ी चलाना मुश्किल हो रहा है। सड़कों पर शायद ही कोई यात्री वाहन दिखाई दे रहा था और कुछ लोगों को कई इंच बर्फ पर पैदल अपने गंतव्य की दूरी तय करते देखा सकता था। सड़कों पर फिसलन के कारण कई वाहनों को सड़कों पर छोड़ दिया गया है। बर्फ के कारण ट्यूशन और कोचिंग सेंटरों में उपस्थिति भी बहुत कम रही। दिलचस्प बात यह है कि ठंड के बावजूद आज सुबह से ही स्थानीय लोगों और पर्यटकों को डल झील के किनारे बर्फबारी का आनंद लेते देखा गया। उन्हें सेल्फी और तस्वीरें लेते भी देखा गया। मौसम विभाग ने कहा कि श्रीनगर में आज ताजा बारिश और हिमपात की संभावना है। उन्होंने कहा कि श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से एक डिग्री कम था। यहां कल अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 6.2 डिग्री रहा था।