पैसे लेने के बावजूद कालोनाइजर राजू ने रमणीक एवेन्यू को नहीं दी मूल सुविधाएं, कार्पोरेशन, प्रशासन, एमएलए और सांसद से शिकायत करने पर मिला ठैंगा

जालंधर (हरीश शर्मा). रमणीक एवेन्यू का मामला किसी से छिपा नहीं है। कालोनाइजर राजू ने सब्जबाग दिखाकर लोगों को प्लाट वहां बेच दिए। इस संबंधी रोजना भास्कर ने मौके पर जांच की। इस कॉलोनी में बड़े-बडे उद्योगपति, डाक्टर रहते हैं, लेकिन सुविधा के नाम पर उन्हें ठैंगा मिला है। इलाके हालत पिछड़े इलाकों से भी बदतर है। लोगों ने यहा तक कह दिया है कि अगर उनक समस्मया का हल नहीं निकलता है तो वे इस बार चुनाव का बायकॉट करेंगे। रमणीक एवेन्यू के लोगों ने कालोनी डेवलपर के साथ चल रहे विवाद को लेकर सोमवार को सांसद चौधरी संतोख सिंह से मिलकर अपनी समस्या हल करवाने की मांग की थी। इस पर सांसद ने लोगों को इस मसले पर निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से बात करने का लॉलीपोप टिका दिया और कहा कि कॉलोनी में सुविधाएं दिलाई जाएंगी।

रमणीक एवेन्यू की सड़कों के बूरे हाल। सीवरेज का पानी सड़कों पर फैला हुआ।

कालोनाइजर राजू कहता फिर रहा है कि उसकी कालोनी में कोई परेशानी नहीं है लेकिन इलाके के लोगों से बात की तो एक अलग ही तस्वीर सामने आई। लोगों ने बताया कि इस संबंधी वे मेयर, कार्पोरेशन, एमएलए और सांसद तक को शिकायत कर चुके हैं, लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की। हम खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। हमे यहां पानी, सीवरेज, बिजली और सड़क जैसी मूल सुविधाएं भी नहीं मिली हैं।

लोग बोले- कोई अफसर या नेता नहीं कर रहा मदद

लोगों का कहना है कि कालोनाइजर राजू का सभी राजनीतिक और सरकारी अधिकारियों के साथ साठ-गांठ है। इसलिए कोई भी हमारी मदद नहीं कर रहा। कार्पोरेशन एक तरफ हाउस टैक्स मांग रही है लेकिन जब हमने अपनी समस्या उनको बताई तो उन्होंने कहा कि कॉलोनी हमारी हद में नहीं आती।

हाउस टैक्स तो दे दें, सुविधाएं तो मिले, 2 महीने से रह रहे अंधेरे में

हाउस टैक्स के लिए कार्पोरेशन की तरफ से आया मैसेज दिखाता इलाकावासी।

लोग हाउस टैक्स देने को भी तैयार हैं, लेकिन उनका कहना है कि हमें सभी मूल सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। सोसायटी पदाधिकारियों ने कहा कि डेवलपर ने वादे के मुताबिक अब तक कालोनी में सुविधा मुहैया नहीं करवाई गई। अब पानी की सप्लाई बंद करने के लिए पॉवरकाम को बिजली का कनेक्शन काटने के लिए चिट्‌ठी भेजी थी और करीब 2 महीने से लोग अंधेरे में रह रहे हैं। कार्पोरेशन के अधिकारियों ने जब लोगों की मीटिंग कालोनाइजर राजू से करवाई तो राजू ने मीटिंग में साफ कहा अब वह कालोनी में कोई डिवैलपमेंट नहीं करवाएगा। यहां तक कि उसने वहां पानी और बिजली के कनेक्शन भी कालोनी से कटवा दिए हैं जो कि उसके नाम पर थे। कालोनी में अंधेरा छाया हुआ है।

विधायक बावा ने दिया कानून नाम का चॉकलेट

लोगों ने बताया कि इस संबंधी जब नॉर्थ हलके के विधायक बावा हैनरी से भी बात की थी तो बावा ने यह कह कर पल्ला झाड़ लिया मैं कानून से बाहर होकर कुछ नहीं कर सकता है।

कालोनाइजर राजू का रसूख अफसरों और नेताओं से भी बड़ा?

हालांकि कालोनाइजर राजू के रसूख को देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सभी राजनीतिक और सरकारी लोग उसकी साथ हैं। क्योंकि रमणीक एवेन्यू के लोग पिछले 6 महीने से मूल सुविधाएं पाने के लिए कभी कार्पोरेशन, कभी मेयर तो कभी सांसद और विधायक को मिल रहे हैं, लेकिन हल कोई नहीं निकल रहा है। हरेक से उन्हें निराश ही लौटना पड़ रहा है। यह बात समझ में नहीं आ रही कि तस्वीर साफ होने के बावजूद कालोनाइजर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। क्या सांसद को रमणीक एवेन्यू के लोगों की मदद करने के लिए नवजोत सिद्धू से बात करने की जरूरत है या ये भी सिर्फ एक हवाई फायर है।

हम आपको रोज कालोनाइजर की काली करतूतों का खुलासा करके दिखाएंगे कि कैसे लोग ठगे गए और क्या हैं उनके हालात…

रमणीक एवेन्यू के हालात दिखाती तस्वीरें