नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने नमो टीवी चैनल पर आपत्ति जताई है। इसके लिए आयोग ने सूचना मंत्रालय से जवाब मांगा है। चुनाव आयोग ने दूरदर्शन द्वारा मैं भी चौकीदार कार्यक्रम के प्रसारण पर जवाब मांगा है और 24 घंटे प्रसारित होने वाले नमो टीवी पर भी जवाब मांगा है।

बता दें मंगलवार को कांग्रेस पार्टी की तरफ से नमो टीवी के खिलाफ शिकायत की गई। कांग्रेस का कहना है कि आम चुनावों के मतदान से ठीक पहले बीजेपी द्वारा नमो टीवी चैनल का प्रसारण शुरू किया गया, जिससे आदर्श आचार संहिता का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि नमो लोगो के नाम पर चैनल चलाया जा रहा है। दूरदर्शन पर प्रधानमंत्री का भाषण चलाया जा रहा है। इन दोनों मामलों पर चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए।

सूत्रों की मानें तो सूचना और प्रसारण मंत्रालय चुनाव आयोग से कहेगा की नमो टीवी चैनल नहीं, बल्कि सर्विस प्रोवाइडर की तरफ से एक विज्ञापन प्लेटफॉर्म है। नमो टीवी पर आनेवाला खर्च बीजेपी के खाते में जुड़ेगा और इसकी जानकारी चुनाव आयोग की सालाना ऑडिट रिपोर्ट में दी जाएगी।