कांग्रेस का आरोप- पीएम मोदी के कारण BSNL और MTNL बंद होने की कगार पर

488

नई दिल्ली. बीएसएनएल की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए 54 हजार कर्मचारियों को बाहर निकालने की तैयारी से जुड़ी खबर को लेकर कांग्रेस ने वीरवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि मोदी के अपने पूंजीपति मित्रों की कंपनियों को फायदा पहुंचाने के कारण बीएसएनएल एवं एमटीएनएल बंद होने की कगार पर हैं।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, बीएसएनएल व एमटीएनएल किसकी टेलीफ़ोन कंपनी हैं- देश के 130 करोड़ लोगों की। सरकारी बीएसएनएल और एमटीएनएल का किया बंटाढार, दोनों कंपनियां घाटे में डूबीं, बीएसएनएल में 54000 नौकरियां जाएंगी, एमटीएनएल बंद होने की कगार पर। उन्होंने आरोप लगाया, मोदी जी ने पूंजीपति मित्रों की कंपनियां बढ़ाईं, बीएसएनएल व एमटीएनएल बंद होने की कगार पर आईं।

खबरों के मुताबिक आर्थिक स्थिति सही करने के लिए और बीएसएनएल को फिर से पटरी पर लाने के लिए बोर्ड ने कई प्रस्ताव को स्वीकृति दी है। कॉस्ट कटिंग के लिए 54 हजार कर्मचारियों को समय पूर्व छंटनी (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति) के साथ कई और सुझावों को भी बोर्ड ने स्वीकार किया है।