रोजाना भास्कर का खट्टा ​मिट्ठा प्याज… पदमश्री को जालंधर के उम्मीदवार से ज्यादा सिद्धू से प्यार..

854

लोकसभा चुनाव सिर पर हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह जालंधर में कांग्रेसी उम्मीदवार चौधरी संतोख सिंह के कागजात दाखिल करवाने के लिए आ रहे हैं। जालंधर में अहम इलाका है, जहां से कांग्रेस को अच्छी लीड की संभावना है, वह है जालंधर कैंट। जालंधर कैंट से मौजूदा विधायक पद्मश्री तो चौधरी संतोख सिंह के प्रचार को बीच में छोड़कर अपने दोस्त नवजोत सिंह सिद्धू संग रवाना हो गए हैं। वह बिहार व अन्य प्रदेशों में प्रचार के लिए जाएंगे। परगट सिंह पद्मश्री है और हाकी के कप्तान भी रह चुके हैं। वैसे तो उनको पता है कि मैच के आखिरी वक्त में ही जान लगाई जाए तो बेहतर गोल हो सकता है और वह कैंट हलके को आखिरी चरण में संभालने का आश्लवासन देकर निकल गए हैं। बात तो यह भी हो रही है कि पद्मश्री को तो सिद्धू के साथ खासा प्यार है, दोनों जाते भी एक साथ हैं और आते भी एक साथ हैं। बस फर्क इतना ही रहा कि कैप्टन ने सिद्धू को मंत्री बना दिया लेकिन परगट को नहीं बनाया। परगट सिंह व सिद्धू की जोड़ी की बात पहले आम आदमी पार्टी में हो रही थी लेकिन बाद में कांग्रेस में एक साथ आए और दोनों विधायक बन गए। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ यारी गहरी रही और अब पदमश्री अपना मैदान किसी के हवाले कर बिहार में गोल करने के लिए निकल गए हैं।