केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल ने जारी किया कैप्टन के दादा का फोटो, कैप्टन और हरसिमरत में जंग तेज हुई, जानिए कौन-सा फोटो जारी किया बीबी हरसिमरत ने

1052

जालंधर . जनरल डायर को डिनर कराने के जवाब पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने एक फोटो जारी किया। साथ ही एक बात लिखकर सभी को हैरान भी कर दिया। हरसिमरत कौर बादल ने जनरल डायर के साथ कैप्टन के दादा राजा भूपेंद्र सिंह के फोटो ट्विटर पर रिलीज किए।
अपने बयान में हरसिमरत ने कहा कि ट्विटर पर अब कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपने पूर्वजों द्वारा सिखों के खिलाफ किए गए पापों का जवाब देना होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि कैप्टन के पूर्वज पहले अहमद शाह अब्दाली के साथ मिल गए। उसके बाद अंग्रेजों के साथ मिलकर महाराजा रंजीत सिंह के खिलाफ हो गए थे।
इतना ही नहीं 100 साल पहले जब जलियांवाला बाग में सैकड़ों निर्दोष लोगों का खून पाया गया, तब कैप्टन के पुरखों ने सरकारी टेलीग्राम के जरिए अमृतसर में जनरल डायर को बधाई भेजी थी। अब कैप्टन के लिए भागने की कोई जगह नहीं बची है। उन्हें सिख कौम को बताना चाहिए कि उन्होंने अपने पूर्वजों के पापों के लिए माफी क्यों नहीं मांगी।
हरसिमरत ने कहा कि मैं रिकॉर्ड किए गए शब्दों का इस्तेमाल कर रही हूं। मैं अपने ट्वीट में आप के दादाजी महाराजा भूपेंद्र सिंह जी द्वारा लिखे टेलीग्राम का सबूत दे चुकी हूं, जिसमें वह कह रहे हैं कि आपके (जनरल डायर) द्वारा की गई कार्रवाई (गोलीबारी) सही है और गवर्नर जनरल भी इससे सहमत हैं।
केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री के रिश्तेदार नटवर सिंह द्वारा लिखी एक किताब में इस बात का रिकॉर्ड किया सबूत है कि महाराजा भूपिंदर सिंह ने जनरल डायर द्वारा की गई अमानवीय कार्रवाई की हिमायत की थी। जनरल डायर ने भी अपनी आत्मकथा में इस बात की पुष्टि की है।
हरसिमरत ने कहा कि अपने पूर्वजों द्वारा किए पापों के सबूतों का जवाब देने के बजाय कैप्टन अमरिंदर किसी झूठी गढ़ी गई डिनर की कहानी से पूरे मामले को रफा -दफा करने की कोशिश कर रहे हैं।