बलकार पहलवान ने पहलवानी को पूरा जीवन समर्पित किया था। रुस्तम ए हिंद बलकार पहलवान की याद में करवाया जा रहा हवन यज्ञ

970

जालंधर रोजाना भास्कर.(हरीश शर्मा)श्री देवी तालाब मन्दिर प्रबंधक कमेटी के प्रधान शीतल विज एवं सैकटरी राजेश विज की सरपरस्ती से चल रहे बलकार पहलवान अखाड़े में नौजवानों को तंदुरुस्त व नशा मुक्त रहने के तौर तरीके सिखाए जाते हैं।

कई वर्षों से चल रहा बलकार पहलवान अखाड़ा जिसमें बलकारा पहलवान ने पंजाब के नौजवानों को एक नई उपलब्धि हासिल करवाई थी व पंजाब का नाम रोशन किया था आज इसी अखाड़े को बलकारा पहलवान के पुत्र उस्ताद वरिंदर पहलवान चला रहे हैं वरिंदर पहलवान ने बताया कि बलकार पहलवान ने प्रसिद्ध पोलो उस्ताद पहलवान से कुश्ती के दाव पेच सीखे थे 1961 में वे रुस्तम ए हिंद बने तब पटियाला के महाराजा यादविंदर सिंह ने उन्हें गधा गोर्ज सम्मान चिन्ह दिया बलकार पहलवान तत्कालीन उपराष्ट्रपति सर्वपल्ली राधा कृष्ण से 20 सम्मान पा चुके थे।


उन्हीं की याद में 28 तारीख दिन रविवार सुबह 7:00 से 8:00 सिद्ध शक्तिपीठ श्री देवी तालाब मंदिर में स्थित अखाड़ा बलकार पहलवान में रुस्तम ए हिंद बलकार पहलवान चैंपियन ऑफ इंडिया की आठवीं पुण्यतिथि मनाई जा रही है जिसमें हवन यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विशेष तौर पर पहुंच रहे श्री देवी तालाब मंदिर के प्रधान शीतल विज सेक्रेटरी राजेश विधायक बावा हेनरी, विधायक राजिंदर बेरी, विधायक सुशील रिंकू व उनके तमाम शागिर्द चाहने वालों और उनकी पत्नी पुष्पा रानी पुत्र उस्ताद वरिंदर पहलवान हवन में आहुतियां डालेंगे। इसके बाद प्रसाद के रूप में लंगर का आयोजन किया जाएगा