प्रदर्शन करते हुए सड़कों पर उतर आए लोग तो कई घंटों हाईवे जाम रहा

1019

पंजाब से बड़ी खबर आ रही है। यहां हजारों लोग विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़कों पर उतर आए तो कई घंटों से हाईवे जाम किया हुआ है। मामला श्री गुरु रविदास जी का मंदिर तोड़ने का है। श्री गुरु रविदास महाराज जी के ऐतिहासिक तीर्थ स्थान मंदिर तुगलकाबाद दिल्ली में प्रशासन द्वारा कार्रवाई की गई और उसे गिरा दिया गया।

जिसके बाद ऑल इंडिया आदि धर्म मिशन के प्रधान संत सतविंदर हीरा, मुख्य प्रचारक संत जोगिंदर पाल, संत दयाल चंद, संत करतार चंद और लोकल कमेटी के सदस्यों ने इसके विरोध स्वरूप गुरु महाराज जी का जाप करना शुरू कर दिया था। जऐतिहासिक मंदिर को गिराए जाने की खबर देश भर में फैल गई है।

इसी कड़ी में आज पूरे पंजाब में धरने प्रदर्शन शुरू हो गए। जालंधर, फगवाड़ा, अमृतसर, होशियारपुर व अन्य शहरों में लोगों ने रोष स्वरूप प्रदर्शन करते हुए सड़कें जाम करनी शुरू कर दी। जालंधर में पहले वडाला चौक फिर कैंप अड्डा, जालंधर अमृतसर हाईवे, जालंधर लुधियाना हाईवे पर सड़क के बीचों-बीच लोग दरियां बिछाकर बैठ गए।

जिसके बाद जालंधर की विभिन्न धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति के नाम जालंधर के एडीसी जसबीर सिंह को ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को हुक्म जारी करना चाहिए कि इस ऐतिहासिक मंदिर को लोगों की आस्था को देखते हुए दोबारा से पूरी शानो शौकत के साथ बनाया जाए ताकि अन्य ऐतिहासिक धार्मिक स्थानों की तरह इसका भी निर्माण हो सके।

समूह संस्थाओं के पदाधिकारियों ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वह ऐतिहासिक मंदिर को बचाने के लिए हुक्म जारी करें और साथ ही मंदिर को बचाने के लिए धरना प्रदर्शन करने आए लोगों को जिन्हें दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था उन्हें रिहा किया जाए।

ज्ञापन सौंपने वालों में एससी कमिशन पंजाब के पूर्व चेयरमैन राजेश बाघा, भगवान वाल्मीकि सभा आबादपुरा जालंधर के दीपक तेलू, भगवान वाल्मीकि धर्म प्रचार सभा के राजू अंजान, राष्ट्रीय प्रधान हिंदू जागृति मंच मनदीप बक्शी, श्री गुरु रविदास प्रबंधक कमेटी के प्रधान भूपिंदर कुमार, ब्राह्मण कल्याण परिषद पंजाब के प्रधान अजय दत्ता, भावाधस के सुभाष सोंधी, इंटरनेशनल अंबेडकर सेना के प्रधान राम मूर्ति, ऑल इंडिया नंबर प्लेट मेकर एसोसिएशन के प्रधान गोपाल पाली, समाज सेवक कुलविंदर सिंह, समाज सेवक संदीप विरदी, रमन कुमार, यंग एडवोकेट क्लब के प्रधान एडवोकेट मोहित भारद्वाज आदि शामिल थे।

प्रदर्शन होने की खबर मिलते ही पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंचा और लोगों को समझाने की कोशिश की जाने तक प्रदेश भर में अलग-अलग स्थानों पर धरने प्रदर्शनों ने जोर पकड़ लिया है।