चंडीगढ़ प्रशासन कब देगा इन बच्चों की तरफ ध्यान

575

चंडीगढ़- रोजाना भास्कर.(राहुल मेहता) चंडीगढ़ में खिलती कड़कती धूप में भीख माँगते नज़र आते हैं बेसहारे बच्चे.। अगर ऐसे मे हम बात करें तो बच्चों का पालन पोषण भी नहीं होता और वह जन्म से ही ऐसे सड़कों पर खिलती धूप में भीख माँगते नज़र आते हैं.।

पता नहीं कैसे माँ बाप हैं जो छोटे छोटे नन्हें मुनहें बच्चों को कड़कती धूप मे भीख माँगने के लिए भेजते हैं यह उम्र उनकी भीख माँगने की नहीं बल्कि पढ़ने लिखने की है.

। ऐसे में चंडीगढ़ पुलिस या फिर चंडीगढ़ निगम को इनके माँ बाप के ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कारवाई करनी चाहिए.। ऐसे जगह जगह पर भीख माँगने वालों में से कुछ शैतान बच्चें भी हैं जो भीख ना देने पर लोगों की गाड़ियों के शीशे भी तोड़ चुके हैं पर चंडीगढ़ पुलिस फिर भी कोई कारवाई नहीं कर रही.।

ऐसे में चाईलड़ हेल्पलाइन विभाग को इनके पेरंट्स के ख़िलाफ़ सख़्त कारवाई करनी चाहिए.। चंडीगढ़ में अगर देखा जाये तो हर लाइट पोआइंट पर नन्हें बच्चे भीख माँगते नज़र आते हैं और कई तो चंडीगढ़ पुलिस के सामने ही लोगों को तंग करते हुए भीख माँगते हैं और लगातार उनकी गाड़ी के शीशे खटखटाते नज़र आते हैं.। कई नन्हें बच्चे गूबारे बेचते हुए नज़र आते हैं और कई लोगों की गाड़ियों के शीशे साफ़ करते हुए भीख माँगते हैं.। ऐसे में चंडीगढ़ पुलिस, चंडीगढ़ निगम या चंडीगढ़ चाइल्ड हेल्पलाइन को इनके माँ बाप पर सख़्त कारवाई करनी चाहिये.।