सिख तालमेल कमेटी ने नकोदर पुलिस को 10 सितंबर तक का दिया टाइम। दुकानों पर लूट व तोड़फोड़ करने वालों को गिरफ्तार नहीं किया तो सीख जत्थे बंदियों उग्र प्रदर्शन करने पर मजबूर होगी

899

जालंधर रोजाना भास्कर.(हरीश शर्मा)नकोदर में शनिवार को पंजाब बंद के दौरान प्रदर्शनकारियों ने एक फैक्ट्री खुली होने के कारण सिख युवक पर हमला कर दिया हमले में अपनी आत्मरक्षा में चलाई गई लाइसेंसी रिवाल्वर से गोली एक प्रदर्शनकारी गोपी नामक युवक को लग गई और वह घायल हो गया जिसे जालंधर के एक निजी हॉस्पिटल में दाखिल करवाया गया घटना के तुरंत बाद पुलिस ने दो सिख भाइयों को गिरफ्तार कर उन पर 307 का मामला दर्ज कर लिया जिसके विरोध में आज सिख तालमेल कमेटी जालंधर के सुखजीत सिंह सत्कार कमेटी के साथ मिलकर विभिन्न जत्थे बंदियों ने नकोदर थाने के बाहर धरना लगा प्रदर्शन किया और उन्होंने हमला करने वाले प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी की मांग की सिख तालमेल कमेटी के प्रधान सुखजीत सिंह ने बताया कि जिस दुकान को बंद करवाने के लिए प्रदर्शनकारियों ने उन पर पत्थरबाजी की दरअसल वह दुकान नहीं फैक्ट्री थी और उसी के ऊपर फैक्टरी मालिक की रिहाइश है

जब प्रदर्शनकारी सरेआम गुंडागर्दी कर रहे थे तो नकोदर में एक धार्मिक स्थल में माथा टेक कर घर जा रही दो औरतें घबरा कर उक्त फैक्ट्री में बचाव के लिए चली गई

प्रदर्शनकारियों ने फैक्ट्री खुली हुई समझकर उस पर पथराव करना शुरू कर दिया जिसके बाद उक्त फैक्ट्री मालिक ने अपनी आत्मरक्षा में अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से गोली चला दी जो कि एक प्रदर्शनकारी को लगी पुलिस ने उक्त फैक्ट्री मालिक को तो गिरफ्तार कर लिया लेकिन हमला करने वाले प्रदर्शनकारियों पर कोई कार्रवाई नहीं की

इसी बात को लेकर आज सिख जत्थे बंदियों के सदस्यों ने थाना नकोदर का घेराव कर दिया और पुलिस को 10 सितंबर तक का अल्टीमेटम दे दिया है अगर पुलिस 10 सितंबर तक उक्त प्रदर्शनकारि जिन्होंने दुकानों पर लूट व तोड़फोड़ की अगर पुलिस ने उन को तुरंत गिरफ्तार नहीं किया तो सीख जत्थे बंदियों उग्र प्रदर्शन करने पर मजबूर होगी जिसका जिम्मेवार पुलिस प्रशासन होगा इस मौके पर उपस्थित सुखजीत सिंह गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी जालंधर से सीख तालमेल कमेटी,से हरपाल सिंह चड्डा सतपाल सिंह सिद्धकी हरजोत सिंह लक्की बलदेव सिंह बस्ती मिट्ठू जितेंद्र सिंह गुरजीत सिंह सतना मियां हरप्रीत सिंह रोबिन सनी ओबरॉय जतिंदर सिंह कोहली व अन्य मौजूद थे