जालंधर (हरीश शर्मा). सांपला व श्वेत मलिक के बीच की जंग अब भाजपा की महिला टीम के बीच पहुंच गयी है। भाजपा की महिला प्रधान रीना जेतली को टक्कर देने के ​लिए सांपला टीम की मोना जयसवाल को खुद आगे नहीं आई लेकिन उसी गुट से मिशन मोदी​ अगेन की कमान देकर जालंधर की उर्मिल वैद्य को उतारा गया है। उर्मिल वैद्य ने मिशन मोदी की टीम की घोषणा कर रीना जेतली को अब चुनौती दी है। वैद्य की टीम भाजपा में समानंतर वर्क करेगी और महिला नेत्रियों में इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति है कि वह किस तरह जाएं किस तरफ न जायें।
रीना जेतली की टीम में वाइस प्रधान के तौर पर डौली गोसाई, रमा महाजन, नेक मिन्हास, एकता नागपाल के अलावा दो अन्य है।

महासचिव में सीमा शर्मा, डिंपल भारद्वाज हैं जबकि सचिव की कुर्सी पर अर्चना जैन, निति तलवाड़, परमिंदर कौर, लवलीन वड़ैच, चंद्र रेखा निक्की के अलावा नीलम शर्मा है। वहीं उर्मिल वैद्य ने अभी टीम बनाकर रोजी सरीन, पूजा बराड़, किरण थापर, मीनू बाला को वाइस प्रधान, मंजू मित्तल मानसा, बिंदिया बाला, दीपाली बागड़िया को महासचिव बनाया गया। स्वर्ण कौर, रमा शर्मा, रजनी कंडा को सचिव पद पर बैठाया गया है। 

यह किसी से छिपा नहीं है कि उर्मिल वैद्य पूर्व मंत्री मनोरंजन कालिया के करीबी मानी है और कालिया सांपला के हमदम है। ऐसे में चुनाव सिर पर हैं और भाजपा में गुटबाजी का असर महिला टीम पर होने लगा है। दोनों टीम समांतर वर्क करेंगी बेशक दोनों का काम लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करना है लेकिन पार्टी के संगठन से अलग होकर चलने का भाजपा में नया कल्चर पैदा हो रहा है, जो पार्टी के लिए ठीक नहीं है। लिहाजा रीना जेतली की शुक्रवार की रैली काफी जानदार रही है, जो मुकेरियां में की हुयी। लेकिन इसमें उर्मिल वैद्य की टीम ने हिस्सा नहीं लिया।