राहुल की रैली में बोलने ना देने पर भड़के सिद्धू, कहा-दिखा दी गई मेरी जगह

898

सिद्धू ने कहा- साल 2004 में पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की रैली में बोलने से रोका गया था, उसके बाद पहली बार है कि जब उन्हें स्पीच नहीं देने दी गई।

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की पंजाब के मोगा में गुरुवार को हुई रैली में नवजोत सिंह सिद्धू को वक्ता के तौर पर शामिल नहीं किया गया था। इस बात को लेकर नवजोत सिद्धू ने गहरी नाराजगी जताई है। सिद्धू ने कहा, साल 2004 में पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की रैली में बोलने से रोका गया था, उसके बाद पहली बार है कि जब उन्हें स्पीच नहीं देने दी गई। 

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि अगर मैं राहुल गांधी की रैली में बोलने के लिए सही नहीं हूं तो मैं एक वक्ता और कैंपेनर के रूप में भी पर्याप्त नहीं हूं। यह मेरे नियंत्रण में नहीं है कि मुझे बोलने के लिए आमंत्रित किया जाता है या नहीं। लेकिन इसने मुझे मेरी जगह दिखा दी है। साफ हो गया है कि कांग्रेस पार्टी से कौन हैं जो आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी का प्रचार करेंगे।

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि सिद्धू को बोलने वालों में होना चाहिए था। उन्होंने कहा कि सिद्धू हमारी पार्टी के स्टार प्रचारक हैं। राहुल जी ने मुझसे पूछा था कि क्या सभी ने भाषण दे दिया है? मैंने कहा कि मुझे नहीं पता क्योंकि मैं उनके साथ आया था।

इस रैली के आयोजन की अध्यक्षता राज्य के सहयोग मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने की थी। रंधावा ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब मामलों की अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की प्रभारी महासचिव आशा कुमारी ने सिर्फ चार वक्ताओं के नाम के लिए कहा था। रंधावा ने कहा कि मुझसे कहा गया था कि राहुलजी को कांगड़ा रैली के लिए देरी हो रही है। ऐसे में सिर्फ जाखड़, मुख्यमंत्री, आशा कुमारी और राहुल जी भाषण देंगे। वहीं, सिद्धू के बारे में उन्होंने कहा कि वे हमारी पार्टी के स्टार कैंपेनर हैं।