संकट में जेट एयरवेज, 13 अंतर्राष्ट्रीय मार्गों पर जाने वाली फ्लाइट्स रोकी

825

मुंबई. प्राइवेट एयरलाइन जेट एयरवेज ने अप्रैल के अंत तक 13 और अंतर्राष्ट्रीय मार्गों पर उड़ानें स्थगित करने की घोषणा की है। इसके अलावा 7 अन्य अंतर्राष्ट्रीय मार्गों पर फेरों की संख्या घटाई गई है। इनमें ज्यादातर दिल्ली और मुंबई से अंतर्राष्ट्रीय गंतव्यों को जाने वाली उड़ानें हैं। जिन मार्गों पर उड़ानें अस्थायी तौर पर स्थगित की गई हैं उनमें पुणे- सिंगापुर (सप्ताह में सात) और पुणे-अबू धाबी (सप्ताह में सात) भी शामिल हैं। जेट पहले ही मुंबई-मैनचेस्टर मार्ग पर उड़ानें स्थगित करने की घोषणा कर चुकी है।

धन की कमी और किसी तरह के राहत पैकेज (बेलआउट) नहीं मिलने की से नरेश गोयल के नियंत्रण वाली एयरलाइन अपने 600 दैनिक उड़ान परिचालन को घटाकर चौथाई स्तर पर ला चुकी है। उसके 119 विमानों के बेड़े में मात्र 33 प्रतिशत ही परिचालन में हैं। एयरलाइन ने दिल्ली से अबू धाबी (सप्ताह में नौ), दम्माम (सप्ताह में 14), ढाका (11), हांगकांग और रियाद (सप्ताह में सात-सात) स्थगित की हैं।

इसके अलावा जेट ने बेंगलुरु से सिंगापुर मार्ग पर भी उड़ानें स्थगित की हैं। इस मार्ग पर एयरलाइन रोजाना दो उड़ानों का परिचालन करती है। इस अवधि के लिए मुंबई से जो उड़ानें रद्द की गई हैं उनमें अबू धाबी (सप्ताह में 12), दम्माम (सप्ताह में 14) और बहरीन (4-7 साप्ताहिक)। सूत्रों ने बताया कि इन मार्गों पर उड़ानें 30 अप्रैल तक स्थगित रहेंगी।