हिमाचल में कड़ाके की ठंड से हुई मार्च की शुरुआत, तापमान शून्य से नीचे

828

शिमला.  हिमाचल में मार्च की शुरुआत कड़ाके की ठंड से हुई। पर्यटन स्थलों मनाली, कुफरी और डलहौजी सहित पांच शहरों में पारा शून्य से नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने अगले पांच दिन राज्य में बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई

शुक्रवार सुबह यहां का न्यूनतम तापमान -11.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। इसी तरह किन्नौर जिला के कल्पा में न्यूनतम तापमान -4.6 डिग्री रहा। मनाली में न्यूनतम तापमान -3.8, कुफरी में -2.6 और डलहौजी में -0.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। वहीं कुछ अन्य शहरों में तापमान जमाव बिंदु के करीब रहा। चायल में 0.2, शिमला में 1.2, सोलन में 1.4, बरथिन में 1.6, भुंतर में 1.9, सुंदरनगर में 2.4, पालमपुर में 2.5, जुब्बड़हट्टी में 3.5, नाहन में 4.2, चम्बा में 4, कांगड़ा में 4.3, हमीरपुर में 4.4, बिलासपुर व धर्मशाला में 4.6, ऊना में 4.7 और मंडी में 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

राहत की बात यह है कि राज्य के अधिकतर हिस्सों में शुक्रवार को धूप खिलने से सर्दी का प्रकोप कुछ हद तक कम रहा। साफ मौसम के बीच बर्फबारी से अवरुद्ध सड़कों के बहाली कार्य में तेज़ी आई है। लोकनिर्माण विभाग के कर्मचारी 122 सड़कों को आज  बहाल करने में कामयाब रहे। राज्य में अभी भी 168 सड़कें बन्द हैं। 

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से  दौरान राज्य में फिर बारिश व बर्फबारी का अनुमान है।  उन्होंने दो व तीन मार्च को राज्य के मैदानी इलाकों में भारी ओलावृष्टि और पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी की चेतावनी दी। चार मार्च तक राज्य में मौसम खराब रहेगा। पांच से सात मार्च तक पूरे प्रदेश में धूप खिली रहेगी।