अखिल भारतीय दुर्गा संगठन की और से माँ बगलामुखी जयंती मनाई गई/ हवन यज्ञ व पूर्णाहुति के बाद विशाल भंडारे का आयोजन किया गया

961

जालंधर
अखिल भारतीय दुर्गा संगठन की और से माँ बगलामुखी जयंती के अवसर पर प्राचीन शिव मंदिर, दोमोरिया पुल, रेलवे रोड में ईश जैन को समर्पित एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। संगठन के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री श्री 108 महाराज स्वामी सिकंदर जी की अध्यक्षता में मनाए गए इस कार्यक्रम में श्रद्धालुओं ने भाग लेते हुए अपने जीवन के मूल उद्देश्य को सार्थक किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ सुबह 8 बजे हवन यज्ञ के साथ किया गया। दोपहर 1 बजे पूर्णाहुति के बाद श्रद्धालुओं के लिए प्रसाद के रूप में विशाल भंडारे का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर श्री देवी तालाब मंदिर प्रबंधक कमेटी का प्रधान शीतल विज, महासचिव राजेश विज,ललित गुप्ता ,परविंदर बहल,मेयर जगदीश राजा, विद्याक रविंदर बेरी, सतपॉल गुप्ता, ललित गुप्ता, अश्विनी गुप्ता विधायक बाबा हेनरी, रानी सरीन गुरुदत्त शिंगरि,सुरेंद्र बिल्ला विधायक राजेंद्र बेरी,रमन अरोड़ा, सुनील अरोड़ा, अजय चोपड़ा,संदीप शर्मा,सोनू हंस,यादव खोसला प्रदान प्राचीन शिव मंदिर,अश्वनी वर्मा,युवराज वर्मा, एडवोकेट संदीप थापर,गौरव सुभाष सोंधी,थापर,अजय लाली,रमन पब्बी,प्रदीप खुल्लर,पार्षद विकी कालिया,पार्षद दीपक शारदा, सौरभ शर्मा ,रमन शर्मा ,मुनीश शर्मा,अश्वनी शर्मा, मुख्य यजमान रहे,


इस अवसर पर आशीर्वचन देते हुए श्री श्री 108 महाराज स्वामी सिकंदर ने कहा की वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी को माँ बगलामुखी का अवतरण दिवस कहा जाता है। जिस कारण इस तिथि को बगलामुखी जयंती मनाई जाती है। उन्होंने बताया कि मां बगलामुखी स्तंभव शक्ति की अधिष्ठात्री हैं अर्थात यह अपने भक्तों के भय को दूर करके शत्रुओं और उनके बुरी शक्तियों का नाश करती हैं। मां बगलामुखी का एक नाम पीताम्बरा भी है। इन्हें पीला रंग अति प्रिय है इसलिए इनके पूजन में पीले रंग की सामग्री का उपयोग सबसे ज्यादा होता है। देवी बगलामुखी का रंग स्वर्ण के समान पीला होता है अत: साधक को माता बगलामुखी की आराधना करते समय पीले वस्त्र ही धारण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बगलामुखी देवी ही समस्त प्रकार से ऋद्धि तथा सिद्धि प्रदान करने वाली हैं। तीनों लोकों की महान शक्ति जैसे आकर्षण शक्ति, वाक् शक्ति, और स्तंभन शक्ति का आशीष देने का सामर्थय सिर्फ माता के पास ही है देवी के भक्त अपने शत्रुओं को ही नहीं बल्कि तीनों लोकों को वश करने में समर्थ होते हैं, विशेषकर झूठे अभियोग प्रकरणों में अपने आप को निर्दोष सिद्ध करने हेतु देवी की आराधना उत्तम मानी जाती हैं। इस अवसर पर श्रद्धालुओं ने गुरु माँ रतन सिकंदर जी का भी आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर संगठन के पंजाब प्रधान विशाल शर्मा, जिला प्रधान वैभव शर्मा, सतपाल सेतिया, तरविंदर सिंह, उत्तम शर्मा, रघु महाजन, सुरिंदर मेहता, राम शर्मा, संजीव मिंटू, बलविंदर सिंहअरुण अरोड़ा, सन्नी शर्मा, राजीव चोपड़ा, अश्वनी वर्मा, गुरबक्श मेहता, शिव भारद्वाज, संजीव शर्मा, रिंकू मल्होत्रा, आर.के,मेहता, राजिंदर तनेजा, सतीश कुमार, अश्वनी भारद्वाज, गगन सचदेवा, रोहित जैन, मोहित जैन, राकेश, सोनिया, राकेश महाजन, लीना महाजन, तान्या महाजन, चंद्रशेखर, रिपन शर्मा, कुमुद शर्मा, पवन बाहरी, तेजिंदर भाटिया, रूप लाल, शाम शर्मा, गोवेर्धन शर्मा, राजेश भारद्वाज, राजू भाटिया, अशोक चड्डा, अनुराग चोपड़ा, सुमन अग्निहोत्री, लता खुल्लर, मीनाक्षी अरोड़ा, तजिंदर कौर, गगनदीप अरोड़ा, अमरजीत कौर, शुकन्तला भसीन, आशु शर्मा, गगन अरोड़ा, सन्नी ग्रेवाल,सुभाष कोहली, संदीप नारंग, बब्बू शर्मा, वीणा नागपाल, सुनीता शर्मा आदि मौजूद थे।