कांग्रेस ने पंजाब के इस सांसद को किया किनारे… मतदान से पहले कांग्रेस में गुटबाजी तेजी से बढ़ने लगी…. पढ़िए कांग्रेस की इनसाइड स्टोरी…

760

जालंधर। (हरीश शर्मा) कांग्रेस में जबरदस्त गुटबाजी चुनावों से पहले दिखने लगी है और चुनावों के बाद पंजाब में धमाके से इंकार नहीं किया जा सकता। स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल शमशेर सिंह दूलो राहुल गांधी की रैली से नदारद रहे। अपने गृह नगर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की रैली में दूलो का शामिल न होना इस कारण भी चर्चा का विषय बना रहा क्योंकि शमशेर सिंह दूलो की पत्नी हरबंस कौर दूलो लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ आम आदमी पार्टी में शामिल हो गईं। इतना ही नहीं, पहले उनकी पत्नी के लोकसभा चुनाव में खड़े होने की संभावना थी, लेकिन अंतिम समय में उनके बेटे को बनदीप सिंह दूलो आप से टिकट दे दिया गया। दूलो कांग्रेस से दूरी बनाकर चल रहे हैं। उनका बेटा आप की टिकट पर मैदान में है । दूलो कैप्टन के सख्त विरोधी है और उनकी नाराजगी कैप्टन से जगजाहिर है।
राहुल गांधी की रैली में कांग्रेस के सभी छोटे-बड़े नेताओं की फोटो लगी थी, लेकिन उसमें दूलो की तस्वीर गायब थी। इससे लोकसभा चुनाव में पार्टी में अंदरखाते चल रही गुटबाजी खुलकर सामने आ गई। दूलो समर्थक एक कांग्रेसी नेता का कहना था कि रैली में दूलो को आमंत्रित नहीं किया गया, इसलिए वह नहीं आए। पंजाब में गुटबाजी बढ़ती जा रही है। जहां नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब से किनारा करके बैठे हैं वहीं उनकी पत्नी नवजोत कौर ने भी आशा कुमारी व कैप्टन पर वार करते हुए कहा है कि उनकी टिकट इन दोनों ने कटवायी है। राज्यसभा सांसद प्रताप बाजवा भी कैप्टन से कट्टर विरोधी हैं।