भिड गए कैप्टन और हरसिमरत कौर बादल ..क्या हुआ एेसा की हो गई तल्खी पढिए कैप्टन व हरसिमरत की जंग

772


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के स्वर्ण मंदिर दौरे को लेकर पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी अकाली दल के बीच शनिवार को जुबानी जंग शुरू हो गयी। एक तरफ जहां शिअद ने आपरेशन ब्ल्यू स्टार के मुद्दे पर सत्तारूढ़ दल के प्रमुख से जहां माफी मांगने की मांग की है वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि विपक्षी पार्टी ‘‘ओछी’’ राजनीति कर रही है। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि राहुल गांधी को ऑपरेशन ब्लू स्टार के लिए माफी मांगनी चाहिए। इस पर पलटवार करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आपके परदादा ससुर ने जालियांवाला कांड के दिन जनरल डायर को दिया भोज दिया था। क्या आपके पति सुखबीर सिंह बादल अथवा उनके पिता प्रकाश सिंह बादल ने कभी इस बात के लिए माफी मांगी?
अमृतसर स्थित जलियांवाला बाग नरसंहार की शताब्दी वर्ष कार्यक्रम में हिस्सा लेने लिए यहां आने के तुरंत बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ शुक्रवार की देर रात स्वर्ण मंदिर पहुंचे थे। शिरोमणि अकाली दल की नेता और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने बठिंडा में कहा, ‘‘राहुल का दौरा केवल राजनीतिक लाभ के लिए था। 1984 के आपरेशन ब्ल्यू स्टार के लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए।’’ गौरतबल है कि स्वर्ण मंदिर परिसर में छिपे आतंकवादियों को वहां से खदेड़ने के लिए जून 1984 में सेना ने आपरेशन ब्ल्यू स्टार चलाया था।
हरिसमरत ने सिखों के इस पवित्र स्थान पर ‘‘हमले’’ के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। इस स्थान को हरमंदिर साहिब के रूप में भी जाना जाता है। मंत्री ने कहा, ‘‘पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को राहुल गांधी को हरमंदिर साहिब पर 1984 में हुए हमले के मद्देनजर माफी मांगने के लिए कहना चाहिए था।’’ इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह राहुल गांधी को लेकर श्री अकाल तख्त साहिब गए लेकिन उनके पास हिम्मत नहीं है कि वह उन्हें कांग्रेस के उस पाप को स्वीकार करने के लिए कहें जिसमें सिखों के सर्वोच्च धार्मिक स्थान पर टैंक और मोर्टार से हमला कर उसे ध्वस्त कर दिया गया था। इसके उलट जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए ब्रिटेन से माफी मांगने की मांग की जा रही है।’’
केंद्रीय मंत्री की इस टिप्पणी पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी। अमरिन्दर सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘क्या आपके पति सुखबीर सिंह बादल अथवा उनके पिता प्रकाश सिंह बादल ने कभी इस बात के लिए माफी मांगी कि आपके परदादा सरदार सुंदर सिंह मजीठिया ने जलियांवाला बाग नरसंहार के दिन जनरल डायर को शानदार भोज दिया था। बाद में उनकी वफादारी और उनके कृत्यों के लिए उन्हें 1926 में नाईट की उपाधि दी गयी थी।’’ पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी शिअद पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि विपक्षी पार्टी की ‘‘सोच संकीर्ण’’ है और यह ‘‘ओछी’’ राजनीति कर रही है। इससे पहले दिन में राहुल गांधी ने जलियांवाला बाग स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की और कहा कि आजादी की कीमत को कभी नहीं भूला जाना चाहिए।