हिमाचल में ठंड का कहर जारी, लाहौल-स्पीति और किन्नौर में न्यूनतम पारा माइनस में

1008

शिमला. हिमाचल प्रदेश में मार्च के महीने में भी ठंड का कहर जारी है। पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बर्फबारी के कारण पिछले कई दिनों से जारी शीतलहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। किन्नौर के कल्पा में 1 सेंटीमीटर ताजा हिमपात हुआ है। राजधानी शिमला व राज्य के मैदानी इलाकों में सोमवार दोपहर गरज के साथ बारिश हुई और कहीं-कहीं ओले भी गिरे, जबकि उपरी इलाकों में बर्फबारी हुई। इससे मौसम ठंडा हो गया है। अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री और न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। लाहौल-स्पीति और किन्नौर जिलों में सोमवार को भी न्यूनतम तापमान माइनस में दर्ज किया गया। वहीं कई अन्य इलाकों में हिमांक बिंदु के निकट रिकॉर्ड हुआ।

लाहौल-स्पीति जिला के केलंग में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी। यहां न्यूनतम तापमान -8.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान -2.6 डिग्री रहा। इसके अलावा डलहौजी में 0.2 डिग्री, मनाली में 0.4 डिग्री और कुफरी में 0.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। शिमला में न्यूनतम तापमान 3.5, धर्मशाला में 3.8, सोलन में 4.6, भुंतर में 5.4, पालमपुर में 6.5, सुंदरनगर में 6.9, जुब्बड़हट्टी में ।, मंडी में ।.1, हमीरपुर में 8.2, बिलासपुर में 8.4, कांगड़ा में 9.2, और चम्बा व ऊना में 9.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इस बीच जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों में रात्रि बस सेवाएं सोमवार को प्रभावित रही। बर्फबारी के संभावना के चलते शाम को 5 बजे के बाद ऊपरी शिमला की ओर जाने वाली बसों को शिमला में ही रोक लिया गया। जिसमें एचआरटीसी के दिल्ली-हरिद्वार, चंडीगढ़-समरकोट बस सेवा शामिल रही इसके अलावा रात्रि 8 बजे रोहडू जाने वाली बस को भी शिमला से नहीं भेजा गया। जिसके पीछे मौसम के खराब रहने और रात्रि को बर्फबारी की संभावना जताई गई। 

एचआरटीसी तारादेवी के क्षेत्रीय प्रबंधन राजेंद्र शर्मा ने बताया कि मौसम खराब रहने की स्थिति में ये फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी रात्रि को भेजी गई बसें बीच में फंसी थी, जिसके कारण यात्रियों को रैस्कयू करना पड़ा था। ऐसी संभावना के चलते ही यह कदम उठाया गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि अगले 24 घण्टों के दौरान राज्य में मौसम के साफ रहने का अनुमान है। लेकिन पहाड़ी इलाकों में सात से नौ मार्च तक फिर बर्फबारी के आसार हैं। आठ मार्च को मैदानी व मध्यवर्ती क्षेत्रों में गरज के साथ बारिश होगी। 10 मार्च को प्रदेश भर में मौसम साफ बना रहेगा।