जुड़ोगे तो बढ़ोगे, लड़ोगे तो घटोगे : सतगुरु दलीप सिंह जी

जालंधर (हरीश शर्मा) | गुरद्वारा श्री जीवन नगर में तीन दिवसीय होला-महल्ला समागम आज सतगुरु दलीप सिंह जी की छत्रछाया में रूहानियत भरे माहौल से सम्पन्न हुआ। इस दौरान देश, समाज के लिए महान संदेश दिए गए। वर्णनयोग्य है कि नामधारी पंथ में इस समागम को सतगुरु गोबिन्द सिंह जी महान परम्पराओं को सम्मुख रखते हुए, नामधारी पंथ के महान गुरु साहिबानों, सतगुरु बालक सिंह जी व सतगुरु प्रताप सिंह जी के पावन प्रकाश पर्व को शामिल कर त्रिवेणी का रूप दिया जाता है। सतगुरु दलीप सिंह जी ने अपने पावन बचन करते हुए गुरु गोबिंद सिंह जी द्वारा रचित पावन वाणी का जाप कर, उनको अपने जीवन में अपनाकर वास्तविक रूप से खालसा बनने का संदेश दिया।

इसके साथ ही उन्होंने सतगुरु बालक सिंह जी तथा सतगुरु प्रताप सिंह जी की महानता को दर्शाते हुए बताया कि कैसे उन्होंने आने वाले समय में धर्म और समाज की रक्षा की। आज के समय में हमें आपस में एक-दूसरे से प्रेम व आपसी भाईचारे की भावना को अपनाते हुए सतगुरु जी के चरणों से जुड़कर हमें अपनी सिक्खी और धर्म को मजबूत करने की जरूरत है। असली धर्म वही है जो निजी तौर पर हमे सुखी करने के साथ-साथ समाज को भी सुखी रखे। इस अवसर पर आपने अपने बनाये नारे को फिर से याद करवाया; जुड़ोगे तो बढ़ोगे, लड़ोगे तो घटोगे द्वारा एकता का संदेश भी दिया।सतगुरु जी के बचनों में इतनी रूहानियत भरी थी कि संगत मस्ती से झूम उठी। इस अवसर पर नामधारी पंथ के महान विद्वानों, रागियों तथा जथेदारों ने हर-यश गायन किया तथा संगत को निहाल किया। इस पावन समागम के दौरान तीन जोड़ों के आनन्द कारज किए गए तथा श्री गुरु ग्रन्थ साहिब के 184 पाठ, गुरबाणी के पाठ तथा श्री दशम ग्रन्थ साहिब के पाठों के भी भोग डाले गए।

इस अवसर पर चौधरी भागी राम जी, सुरिंदरपाल कम्बोज, शीशपाल कम्बोज भाजपा प्रभारी, गुलजार हंस जी लोकसभा संयोजक, जतिंदर सिंह जिला प्रधान, जिला प्रधान वैद फुला, महा मंत्री अमरीक सिंह राही, उपप्रधान रामदुर सिंह बराड़, चेयरमैन राजकुमार मेहता, ज्ञानी मलकीत सिंह गुरद्वारा किला साहिब, बालयोगी उमेश नाथ जी  गुरमेज सिंह मठाड़ू अमृतसर नैशनल लीडर भाजपा, निशान सिंह वां तरनतारन अकाली दल,नामधारी पंथ के महान तपस्वी तथा विद्वान सूबा भगत सिंह जी ,बाबा छिंदा सिंह जी मौजूद रहे।