कांग्रेसी उम्मीदवार मुनीष तिवारी के पिता के बारे आपतिजनक वीडियो वायरल कर डाली… वरिष्ठ भाजपा नेता निकला फर्जी वीडियो तैयार करने वाला…. पुलिस के हत्थे चढा भाजपा नेता….

1620

जालंधर, रोज़ाना भास्कर (हरीश शर्मा). आनंदपुर साहिब लोकसभा क्षेत्र से पार्टी उम्मीदवार मनीष तिवारी ने उनके और उनके परिवार के खिलाफ सोशल मीडिया पर झूठा और आपत्तिजनक प्रचार करने वाले को पुलिस ने पकड़ लिया है। नंगल के रहने वाले आरोपी रूपनगर जिला भाजपा का उपाध्यक्ष नरेश चावला है। पुलिस ने थाना सिटी रूपनगर में अज्ञात आरोपी के खिलाफ धार्मिक भावना भड़काने और मानहानि के आरोप आइपीसी की धारा 295ए और 500 के तहत केस दर्ज किया था। जिसं चावला को पकड़ा गया है।
तिवारी के चुनाव एजेंट पवन दीवान ने चुनाव आयोग को भेजी शिकायत में कहा था कि हमें आशंका है कि यह श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रही मुख्य विरोधी राजनीतिक पार्टियों के इशारे पर श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार श्री मनीष तिवारी की छवि खराब करने के लिए किया गया है। यह क्लिप झूठ है बल्कि पंजाब में अलग-अलग संप्रदायों के मध्य हिंसा को भड़काने और सांप्रदायिक सद्भावना को बिगाड़ने की कोशिश भी है और यह खतरनाक है।
वीडियो में आरोप लगाया गया है कि मनीष तिवारी के पिता स्वर्गीय प्रो वीएन तिवारी दिल्ली में सिख विरोधी दंगों में शामिल थे और सिखों को जलाने के लिए उनके पेट्रोल पंप से पेट्रोल सप्लाई किया गया था। जबकि उनके पिता को दंगों से 6 महीने पहले ही कत्ल कर दिया गया था और उनके पास कभी भी कोई पेट्रोल पंप नहीं था। उन्होंने कहा कि उन्हें शंका है कि उनके सियासी विरोधी इस वीडियो क्लिप को फैला रहे हैं।
तिवारी ने कहा कि उनके पिता को आतंकवादियों ने दंगों से 6 महीने पहले 3 अप्रैल, 1984 को कत्ल कर दिया था और उनके और उनके परिवार के पास कभी भी देश में कहीं पर भी पेट्रोल पंप नहीं रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ बाहरी होने की बात फैलाने में नाकामयाब रहे लोग, अब उनके और उनके परिवार के खिलाफ निचले स्तर का झूठा प्रचार कर रहे हैं। रूपनगर के एसएसपी स्वपन शर्मा ने बताया कि आरोपित नरेश चावला को गिरफ्तार कर लिया है। उस पर आरोप है कि उसी ने आपतिजनक वीडियो वायरल की है।