बच्चे उठाने वाले गिरोह को बे नक़ाब कर 2 महिलाओं को क़ाबू किया

827


जालंधर रोजाना भास्कर.(मनदीप सिंह) पंजाब में रोज़ाना लोगो के बच्चे उठाने की वारदातों से जहाँ लोग सहमे हुए है वही बच्चे उठाने वाले गिरोह को बेनक़ाब कर 2 महिलाओं को क़ाबू किया गया है।जालंधर पुलिस ने गिरोह को बठिंडा में छापेमारी कर काबू किया है। जिनके बाक़ी के साथी फरार है जो बच्चे उठाकर 4 लाख रूपए में बेचते थे। गिरोह का कमिश्नरेट जालंधर पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुललर की टीम ने पर्दाफाश किया है।पुलिस टीम ने दो महिलाओं को गिरफ्तार करके 15 दिन के दुधमुंहे बच्चे को बरामद कर लिया है। डी.सी.पी. गुरमीत सिंह ने बताया कि 15 अगस्त की रात को थाना नम्बर 1 में शिकायत मिली की जालंधर के फेयरफार्म के निकट रहती महिला चंदा देवी के 15 दिन के दुधमुंहे बच्चे को मोटर साईकल सवार दो युवक अपहरण कर ले गए हैं। बच्चे को घर के बाहर ही उसकी बड़ी बहिन के साथ खेल रहा था।
डी.सी.पी. गुरमीत सिंह ने बताया कि मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत पुलिस द्वारा अपहरण का केस दर्ज करके जांच शुरू की गई। जांच में पता चला कि बच्चे की मां चंदा देवी से एक युवक द्वारा बच्चा बेच देने के लिए फोन पर बात की थी। उक्त फोन नम्बर को आधार बना कर जांच शुरू की गई तो सनसनीखेज तथ्यों का खुलासा हुआ। डी.सी.पी. गुरमीत सिंह ने बताया कि जांच में पता चला कि तिलक राज व राजविन्द्र कौर वासी कपूरथला द्वारा बच्चों को अपहरण करके खरीदो फरोख्त का धंधा किया जाता है।
जांच के दौरान पुलिस टीम ने दो मिहलाएं बलविन्द्र कौर और मनजीत कौर को गिरफ्तार किया गया।पता चला कि इन लोगों ने चंदा देवी के बेटे को अगवा करके 4 लाख 25 हज़ार रूपए में बठिंडा निवासी इन्द्रजीत कौर पत्नी कर्मजीत सिंह को बेचना था।
डी.सी.पी. गुरमीत सिंह ने बताया कि कपूरथला के तिलक राज और उसकी पत्नी का कांटैक्ट मुक्तसर की महिला बलजिन्द्र कौर व बलविन्द्र कौर तथा मनजीत कौर के ज़रिए आर्मी में तैनात कर्मजीत सिंह व उसकी पत्नी इंद्रजीत सिंह को बेचना था। सूचना मिलते ही थाना नम्बर 1 के इंस्पैक्टर सुखबीर सिंह के नतृत्व में पुलिस टीम ने आरोपी महिला बलजिन्द्र कौर व बलविन्द्र कौर को गिरफ्तार किया है।