मंडियों में किसानों को पेश आ रही दिक्कतों को रोकने हेतु शैलर मालिकों के मसले तुरंत हल करे सरकार-भगवंत मान।

534

चंडीगढ़,रोज़ाना भास्कर.(राहुल मेहता) आम आदमी पार्टी के राज्य प्रधान और संसद मैंबर भगवंत मान ने कैप्टन सरकार से पंजाब के शैलर मालिकों के मसले तुरंत हल करने की जोरदार मांग की है। जिससे धान की फसल बेचने के समय किसानों को मंडियों में किसी तरह की कोई दिक्कत या लुटपाट का शिकार न हो। 
    ‘आप’ हैडक्वाटर द्वारा जारी बयान में भगवंत मान ने कहा कि पंजाब भर के विभिन्न जिलों में शैलर मालिकों की खबरों से लगता है कि यदि सरकार ने शैलर उद्योग विरोधी नई कस्टम मिलिंग पालिसी को फिर से विचार कर शैलर मालिकों की जायज मांगें न मानी तो शैलर-उद्योग हड़ताल करने के लिए मजबूर होगा।
    भगवंत मान ने कहा कि यदि सरकार की बेरुखी और बदनीयती के कारण शैलर मालिक धान के सीजन दौरान हड़ताल पर जाते हैं तो इसका सबसे बड़ा नुक्सान किसानों को झेलना पड़ेगा और मंडियों में बेकार पड़े किसानों की ‘मंडी माफिया’ लूट-पाट करेगा, जिसको आम आदमी पार्टी बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी।
    भगवंत मान ने कहा कि धान की फसल मंडियों में आनी शुरू हो गई है, यदि शैलर मालिक लिफ्टिंग नहीं कर सकेंगे तो इसका सबसे अधिक असर किसानों, लेबर, आढ़ती और ट्रांसपोर्ट पर पड़ेगा।
    भगवंत मान ने कहा कि सरकार की व्यापारियों, कारोबारियों और किसान मजदूर विरोधी नीतियों के कारण आज उद्योग और शैलर इंडस्ट्री बंद हो रही है। मान ने कहा कि सरकारी खरीद एजेंसियां शैलर मालिकों का करीब एक हजार करोड़ रुपए का बकाया पिछले साल का दबाए बैठी हैं।
    मान के अनुसार सरकार की विरोधी नीतियों से दुखी शैलर मालिक अपनी, एसोसिएशनों के ‘सरकारी प्रधानों’ से भी दुखी लगते हैं। उन्होंने खुराक सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशु को शैलर मालिकों की मांगें अगले 2-4 दिनों में हल करने पर जोर देते कहा कि इस बार धान का सीजन यह भी स्पष्ट करेगा कि सरकार किसानों, शैलरन मालिकों, आढतियों, ट्रांसपोर्टरों और लेबर की तरफ है या ‘मंडी माफिया’ की तरफ खड़ी है।
    भगवंत मान ने सरकार को चेतावनी दी है कि यदि सरकार ने शैलर मालिकों की मांगों की ओर गंभीरता न दिखाई तो ‘आप’ इन कारोबारियों को एकजुट कर संघर्ष का बिगुल बजाएगी