भारतीय थल सेना ने वर्ष 2019 को “शहीदों के आश्रितों के प्रति समर्पित वर्ष” मनाने का निर्णय लिया ।जालंधर छावनी में शहीदों के आश्रितों, वीर नारियों एवम सैनिकों की विधवाओं की समस्याओं के समाधान के लिये कानक्लेव एवम मेडिकल कैम्प का आयोजन

488

जालंधर रोजाना भास्कर.(हरीश शर्मा)भारतीय थल सेना ने वर्ष 2019 को “शहीदों के आश्रितों के प्रति समर्पित वर्ष” मनाने का निर्णय लिया है और इसी निर्णय को प्रतिपादित करने हेतु, जालंधर छावनी में शहीदों के आश्रितों, वीर नारियों एवम सैनिकों की विधवाओं की समस्याओं के समाधान के लिये कानक्लेव एवम मेडिकल कैम्प का आयोजन किया गया । इस आयोजन में जालंधर जिले से बड़ी संख्या में वीर नारियों और शहीदों के आश्रितों ने भाग लिया । लेफ्टिनेंट जनरल अरविंद दत्त्ता कोर कमांडर वज्र कोर एवम श्रीमती सिम्मी दत्ता जोनल अध्यक्षा आवा इस अवसर पर मुख्य अतिथि थे |

जालंधर छावनी में आयोजित इस भव्य समारोह में श्रीमती सिम्मी दत्त्ता जोनल अध्यक्षा आवा ने वीर नारियों एवम शहीदों के आश्रितों को सम्मानित किया ।

लेफ्टिनेंट जनरल अरविंद दत्ता ने अपने सम्बोधन में कहा कि भारतीय सेना वीर नारियों और शहीदों के परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिये सदैव प्रयासरत रहेगी । रैली के दौरान लाभकारी योजनायों के प्रचार प्रसार के लिये एवम वीर नारियों और शहीदों के परिवारों को सहायता प्रदान करने के लिये स्टॉलों को स्थापित किया गया । इन स्टालों में पी सी डी ए इलाहाबाद, विभिन्न रेजीमेंट सेंटरों के अभिलेख कार्यालयों के स्टाल डी पी डी ओ, आर्मी वेलफेयर पलेसमेंट नोड, आधार एवम पैन कार्ड स्टाल, भूतपूर्व सैनिक अंशदान स्वास्थय योजना, कैन्टीन स्मार्ट कार्ड, बैंक आदि स्टाल प्रमुख थे । इसके अतिरिक्त वज्र कोर द्वारा एक स्वास्थय कैम्प भी लगाया गया । इस कानक्लेव में कुल 200 वीर नारियों और शहीदों के परिजनों ने भाग लिया और स्वास्थय संबंधी एवं अन्य सेवाओं का लाभ उठाया