सेक्टर 45 स्तिथ बुड़ैल में दिनदिहाड़े चली गोलियां, 1 की मौत, दो गंभीर रूप से घायल.

470

चंडीगढ़(राहुल मेहता).गैंगस्टर संपत नेहरा से बहस करने पर लॉरैंस बिश्नोई गैंग के तीन गैंगस्टरों ने शनिवार दोपहर सैक्टर-45 बुडै़ल में बदमाश सोनू शाह पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी। ऑफिस सोनू शाह के साथ बैठे जोगिन्द्र पहलवान और रोनी भी गोली लगने से घायल हो गए।
हमलावर बुडै़ैल की तंग गलियों में पिस्टल लहराते हुए फरार हो गए। तीनों को जी.एम.सी.एच. 32 पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने सोनू शाह को मृत घोषित कर दिया। सोनू शाह के सिर से लेकर पैरों तक 10 गोलियां लगी हैं। जोगिन्द्र पहलवान और रोनी के पेट और छाती के पास तीन-तीन गोलियां लगी हैं।

इन दोनों की हालत भी गंभीर बनी हुई है। पुलिस को सोनू शाह के ऑफिस से 32 बोर की गोली के 14 खोल बरामद हुए हैं। प्राथमिक जांच में पता चला कि गैंगस्टरों ने 24 राऊंड फायरिंग की है। लॉरैंस बिश्नोई ने फेसबुक पर पोस्ट कर हत्या की जिम्मेदारी ली है। बुडै़ल निवासी प्रवीण कुमार की शिकायत पर सैक्टर-34 थाना पुलिस ने बिश्नोई गैंग के सदस्यों पर हत्या, हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया।

दोस्तों के साथ ऑफिस में बैठा था सोनू शाह :
प्रवीण कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका भाई राजीव उर्फ सोनू शाह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था। उसने अपना ऑफिस सैक्टर-45 बुडै़ल के वाल्मीकि मंदिर के पास बना रखा था। शनिवार दोपहर साढ़े 12 बजे जोगिन्द्र पहलवान और रोनी सोनू शाह से उसके ऑफिस में मिलने आए थे। 

सोनू शाह दोनों से बातचीत कर रहा था। तभी एक युवक वहां आया और सोनू शाह से बात करने लगा। इसी दौरान दो और युवक ऑफिस में आए और तीनों ने मिलकर सोनू शाह पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। गोली लगते ही सोनू शाह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गया। हमलावरों ने जोगिन्द्र पहलवान और रोमी पर भी गोलियां बरसाईं और पिस्टल लहराते हुए फरार हो गए।

सी.सी.टी.वी. फुटेज में दिखे हमलावर :
लोगों ने खून से लथपथ सोनू शाह, जोगिन्द्र पहलवान और रोमी को कार से जी.एम.सी.एच. 32 पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने सोनू को मृत घोषित कर दिया। जोगिन्द्र पहलवान और रोमी की हालत गंभीर बनी हुई है। वारदात की सूचना मिलते ही एस.एस.पी. निलांबरी विजय जगदले, एस.पी. विनीत कुमार, क्राइम ब्रांच की टीम और साऊथ डिवीजन के सभी थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे।
सोनू शाह के ऑफिस में खून ही खून बिखरा हुआ था। गोलियों के खोल भी बिखरे थे। फॉरैंसिक एक्सपर्ट्स ने गोलियों के खोल और खून के सैंपल जब्त किए। सैक्टर-34 थाना पुलिस ने हमलावरों की पहचान के लिए ऑफिस में लगे सी.सी.टी.वी. कैमरों की फुटेज हासिल की है। फुटेज में युवक गोली मारते हुए साफ दिख रहे हैं।

लॉरैंस बिश्नोई की फेसबुक पोस्ट- गरीबों से हफ्ता लेता व मेरी एंटी पार्टी को सपोर्ट करता था :
बदमाश सोनू शाह की हत्या होने के कुछ घंटे बाद ही लॉरैंस बिश्नोई ने फेसबुक पर पोस्ट कर हत्या की जिम्मेदारी ली। फेसबुक पोस्ट में बिश्नोई ने कहा कि सोनू शाह गरीबों से हफ्ता लेता और मेरी एंटी पार्टी को सपोर्ट करता था। हमारे हर काम में टांग फंसा रहा था।

आज सोनू के मरने से उन लोगों को आराम मिल गया, जिनको वह तंग करता था। मेरे भाई काला राणा और राजू बादोदिया ने एक बोल पर सोनू को मार डाला। बाकी जिसके मन में वहम हो, दिल से निकाल दूंगा। धमकी देते हुए उसने कहा कि इसे हलके में न लिया जाए। अब उन दो डिस्कोथैक संचालकों की बारी है, जिन्होंने उनको हलके में लेते हुए रंगदारी देने से इन्कार किया था।

डिजायर कार में आए थे हत्यारे :
पुलिस जांच में सामने आया कि सोनू शाह की हत्या करने वाले गैंगस्टर डिजायर कार में आए थे। उन्होंने अपनी गाड़ी मेन रोड पर खड़ी कर रखी थी। तीन गैंगस्टर सोनू शाह की हत्या करने के लिए गए और एक गाड़ी में बैठकर उनका इंतजार करता रहा। 
सूत्रों से पता चला कि गैंगस्टर डिस्पैंसरी की तरफ से आए और आदर्श पब्लिक स्कूल की तरफ से फरार हुए हैं। जांच में सामने आया कि सोनू शाह की हत्या से पहले पूरी रैकी की गई थी। उसकी कई गैंगस्टरों के साथ दुश्मनी चल रही थी। बदमाश सोनू शाह पर भी चंडीगढ़ और मोहाली में हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, रंगदारी के कई मामले दर्ज हैं। वह मोहाली के दशहरे ग्राऊंड के पास हुई फायरिंग मामले में जमानत पर जेल से बाहर आया हुआ था।

संपत नेहरा से हुई थी बहस : प्रवीण   
शिकायतकर्ता प्रवीण ने बताया कि उसके भाई सोनू शाह की कुछ दिन पहले लॉरैंस बिश्नोई गैंग के संपत नेहरा से बहस हुई थी। इसके बाद सोनू काफी टैंशन में था। प्रवीण ने बताया कि उसके भाई की हत्या लॉरैंस बिश्नोई गैंग के गैंगस्टर संपत ने करवाई है। 

खून से लथपथ पड़े थे :
चश्मदीद लक्की ने बताया कि वह गाड़ी में सोनू के ऑफिस में आ रहा था। उसने सोनू के ऑफिस की तरफ पटाखे चलने की आवाज सुनाई दी। जब देखा तो दो युवक सोनू शाह के ऑफिस से निकलकर आदर्श स्कूल की तरफ दौड़ रहे थे। 

तभी ऑफिस से खून से लथपथ जोगिन्द्र पहलवान उसकी तरफ दौड़ता आया और चिल्लाते हुए कहा कि सोनू शाह की हत्या कर दी गई है। जब वह ऑफिस गया तो सोनू शाह और रोमी खून से लथपथ जमीन पर पड़े थे। सोनू शाह के सिर में गोली लगी थी।