निति सोनी का सोनिया गांधी के नाम खुला पत्र…यह कैसे लोग आपने पार्टी में विधायक बना रखे हैं..पार्टी से माफिया को चलता करना चाहिए आपको..

1540

जालंधर। कारोबार में शिखर की बुलंदियों पर पहुंचने वाली महिला शिक्षक निति सोनी ने अब एआईसीसी की पूर्व प्रधान सोनिया गांधी को खुला पत्र लिखकर कहा है कि यह कैसे लोग आपने पार्टी में विधायक बना रखे हैं, जो पॉवर का मिसयूज तो करते हैं साथ ही माफिया की पूरी पीठ ठोंक रहे हैं।​ निति सोनी ने जो पत्र सोनियां गांधी को लिखा है वह है…
​आदरणीय मिसेज गांधी,
आप हमेशा महिला सशक्तिकरण के लिए काफी अग्रसर रही हैं। पार्टी की केंद्र में सरकार थी तो आपने महिलाओं को खूब प्रोत्साहन दिया। पार्टी ही नहीं बल्कि सरकार में महिलाओं को ऊंचे पदों पर बैठाकर आपने महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देने का ठोस कदम उठाया। लेकिन दुख की बात है कि आपने पार्टी में ऐसे लोगों को विधायक बनाया, जो महिलाओं पर झूठे केस दर्ज करने के लिए अपनी राजनीतिक ताकत का इस्तेमाल कर रहे हैं।सोनिया जी,आपकी पार्टी में कपूरथला से विधायक राणा गुरजीत सिंह हैं,जिनको पंजाब में सरकार बनते ही बिजली मंत्री बनाया गया था। जिसने पहले खनन के नाम पर आपकी व पार्टी की बदनामी करवायी, ​फिर ठेकेदार से करोड़ों रूपये के ले​नदेन में किरकिरी हुई ​फिर उनहोंने ईडी की जांच का सामना किया। बिजली मंत्री रहते हुए विवाद यह भी आया कि वह अपनी निजी कंपनियों को फायदा पहुंचा रहे हैं। इसी कारण उनकी कुर्सी चली गयी। लेकिन उनहोंने पॉवर मिसयूज जारी रखा।15 मई को हमारी जमीन पर जाने वाली रोड को राणा गुरजीत सिंह के समधी अमृतपाल गिल ने न केवल तोड़़कर सारा मैटरियल चुरा लिया बल्कि कैमरी गाड़ी पर मर्सडिज का नंबर लगाकर जालंधर में घूमता रहा।कार में राणा के खासखास लोग सवार थे।मौके पर मेरे साथ व अ​दिति हंस के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया, गाली गलौच किया गया। कार भी राणा गुरजीत सिंह की कंपनी की थी। ​महिलाओं के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया जाना एक संगीन अपराध है।हमारी तरफ से शिकायत पुलिस कमिशनर को की गयी लेकिन राणा गुरजीत सिंह ने इतना जबरदस्त राजनीतिक प्रेशर डाला कि हमारी शिकायत कहां गुम हो गयी, पता ही नहीं चला। क्या पार्टी ऐसे लोगों को विधायक बनाती है,जो महिलाओं के साथ धक्का करते हों ? धक्के से सारा सामान चुराकर कब्जा करने की कोशिश की गयी, क्या पार्टी ऐसे लोगों को विधायक बनाती है जो माफिया का साथ दे रहे हो?
आप एक सशक्त महिला की उदाहरण है लेकिन ऐसे विधायक पार्टी की इमेज को खत्म कर रहे हैं। मेरा कोई राजनीतिक कैरियर या किसी पार्टी से लेना देना नहीं है लेकिन दुख इस बात का होता है कि आप ऐसे नेताओं को आगे क्यों लाते हो, जिनका काम कब्जा, लूट खसूट व महिलाओं के साथ धक्केशाही है।मैं बिलकुल राजनीति से दूर हूं लेकिन मेरा निवेदन है​ कि जिन 50 फीसदी महिलाओं को आप आरक्षण देकर नगर ​निगम, विधायक या सांसद बनाने का ख्वाब देख रही हो, उनके हितों की रक्षा करना आपका फर्ज है। मुझे यकीन है कि एक शिक्षक एक महिला का दर्द आप अच्छी तरह से समझ रही होगी। मुझे आपकी तरफ से उठाये कदम का इंतजार रहेगा।
निति सोेनी