यूथ अकाली दल की इनसाइड स्टोरी… मक्कड़ धड़े में ही फंसा जिला प्रधानगी का पेच

1268

जालंधर (हरीश शर्मा) यूथ अकाली दल की जिला प्रधानगी सरबजीत सिंह मक्कड़ धड़े में ही फंसती नजर आ रही है। प्रधान पद को लेकर दो गुट आमने-सामने हैं दोनों ही गुट आजकल मक्कड़ के नजदीकी हैं लेकिन इसका हल निकलता नजर नहीं आ रहा। हालांकि पार्टी आला अधिकारी और यूथ के दोआबा प्रधान चाहते हैं कि किसी तरह लोकसभा चुनाव निकल जाए लेकिन जो हालात बनते जा रहे हैं, उससे विस्फोट कभी भी हो सकता है। हर किसी को लालीपाप दिया जा रहा है कि कुछ दिन ठहरो, अच्छा ओहदा दे देंगे।
इस समय सुखमिंदर सिंह राजपाल और राजबीर सिंह शंटी जिला प्रधानगी चाहते हैं। पिछली बार दो जिला प्रधान बनाए गए थे राजपाल और मिंटा। मिंटा पूरी तरह अकाली दल से गायब हो गए हैं तो राजबीर सिंह शंटी काफी आगे आए हैं। खास बात यह है कि राजपाल और शंटी दोनों ही मक्कड़ धड़े से हैं। मक्कड़ भी दोनों में से किसी को नाराज नहीं करना चाहते। राजपाल से ज्यादा शंटी मक्कड़ के आसपास दिखाई दे रहे हैं, लेकिन राजपाल लंबे समय से मक्कड़ के साथ चल रहे हैं। ऐसे में एक को प्रधानगी देकर पार्टी लोकसभा चुनाव में किसी तरह का विवाद नहीं चाहती। जैसे-तैसे समय निकाला जा रहा है। अब देखना है कि मक्कड़ गुट में से किसे प्रधानगी का स्वाद चखने का मौका मिलेगा।